नागराज मंजुले की बायोग्राफिकल स्पोर्ट्स ड्रामा झुंड अगले महीने 4 मार्च को रिलीज के लिए तैयार है. हालांकि 4 मार्च को झुंड के सामने बॉक्स ऑफिस पर एक और स्पोर्ट्स ड्रामा होगी

मंजुले की फिल्म झुंड की सबसे ख़ास बात यह भी है कि इसमें सदी के महानायक के रूप में विख्यात अमिताभ बच्चन भी मुख्य भूमिका में हैं. यह फिल्म दो साल से बनकर तैयार है.

नागराज मंजुले किसी परिचय के मोहताज नहीं है. लेखक, निर्देशक, निर्माता और एक्टर के रूप में छोटे से करियर में उनका काम मील का पत्थर साबित हुआ है.

झुंड की कहानी विजय बरसे के जीवन पर आधारित है जिन्हें स्लम सॉकर की स्थापना के लिए जाना जाता है. अमिताभ बच्चन उनकी भूमिका निभा रहे हैं.

अमिताभ दलित समाज से आने वाले बच्चों को एकजुट करते हैं. उन्हें फुटबाल के साथ जीवन का एक मकसद देते हैं. मकसद पाते ही बच्चों का असली हुनर बाहर निकलकर आता है.

झुंड इन आरोपों को खारिज करती दिख रही है. नागराज खुद दलित समाज से हैं और बाबा साहेब भीम राव अंबेडकर के विचारों से प्रभावित रहे हैं. उनकी फिल्म मेकिंग की अपनी स्टाइल है

झुंड में नागराज के फिल्म मेकिंग ब्रांड की छाप देखने कोई मिलेगी. फिल्म की स्टारकास्ट से लेकर म्यूजिक तक नागराज की इस फिल्म में भी कलाकार, संगीतकार, गायक उनके पुराने साथी ही है. सैराट और फैंड्री की तमाम स्टारकास्ट झुंड में भी है.

बॉलीवुड फिल्मों के पारंपरिक गानों से हटकर है. सैराट के गानों ने तो तहलका मचा दिया था. अजय अतुल की जोड़ी में झुंड के भी कई गाने इतिहास दोहराते दिख रहे हैं. खासकर आया ये झुंड है और लफड़ा झाला की बीट्स सुनने में बहुत अच्छे लग रहे हैं.